राजनीति

जानिये देश के युवाओं की क्या राये है राहुल गाँधी के प्रधान मंत्री बनने के बारे में

104 Shares

जब से मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने चुनाव जीता है, कांग्रेस पार्टी और उसके एजेंट राहुल गांधी को प्रधानमंत्री मोदी के सामने एक बड़ी चुनौती के रूप में पेश कर रहे हैं। मीडिया राहुल को केवल एकमात्र ऐसा व्यक्ति प्रस्तुत कर रही है जो मोदी को कड़ी टक्कर दे सकता है।

लेकिन क्या यह वास्तव में सच है? क्या हाल ही में तीन राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के बाद समीकरण बदल गया है? क्या मोदी सरकार के ऊपर जनता कांग्रेस सरकार को पसंद करती है?

हां यह सही हो सकता है लेकिन केवल कांग्रेस और उसके एजेंटों की नजर में क्यूँकि देश ऐसा महसूस नहीं करता। इंटरनेट टुडे माइंड रॉक्स 2019(सबसे बड़ा युवा शिखर सम्मेलन) जो भुवनेश्वर में चल रहा है उसके वायरल हुए एक वीडियो में युवाओं ने राहुल गांधी को पूरी तरह से खारिज कर दिया है बड़ी “ना” के साथ।

जब राज चेंगप्पा- ग्रुप एडिटोरियल डायरेक्टर (पब्लिशिंग), इंडिया टुडे ग्रुप ने सवाल किया, “क्या राहुल गांधी एक अच्छा प्रधानमंत्री बन पाएंगे?” तो युवाओं का जवाब साफ़ ना था|

प्रतिक्रिया संपादक के गले से नहीं उतरी तो फर उन्होंने हां की उम्मीद के साथ एक और कोशिश करने की सोची। संपादक ने अपने प्रश्न को संशोधित किया और पूछा कि कौन कहता है “हां “, कौन इस बारे में सकरात्मक है कि राहुल गांधी देश के प्रधानमंत्री बन सकते हैं। उसने सोचा नहीं था कि यह प्रतिक्रिया भी मिल सकती है। पर उसके आश्चर्य के लिए पूरी तरह से चुप्पी थी, उन्हें कोई जवाब नहीं मिला और कुछ समय बाद हर कोई ज़ोर ज़ोर से हंसने लगा।

यह केवल राष्ट्र के विशेष क्षेत्र या किसी विशेष सम्मेल्लन की आवाज़ नहीं है| सही मायने में यह पूरे देश की आवाज है। कोई भी राहुल गांधी को भारत के प्रधान मंत्री के रूप में नहीं देखना चाहता है।

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी गांधी मैदान में एक सभा की। उन्होंने वीडियो को ट्वीट किया जिसमें भुवनेश्वर के युवाओं ने राहुल गांधी के बारे में अपनी राये प्रकट की है उन्होंने निम्न कैप्शन के साथ ट्रोल किया: “एक आंख खोलने वाला पल राहुल गांधी के लिए, ये लोगों के तिरस्कार को प्रकट करता है। जब युवा भीड़ से पूछा जाता है कि क्या वह एक अच्छा प्रधानमंत्री बन पायेंगे तो हर तरफ केवल हंसी मजाक है। लोगों ने मन बना लिया है। ”

वह व्यक्ति जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत का अपमान करता है, जिसने अपने परिवार और पार्टी के साथ देश को लंबे समय तक लूटा है, जो भ्रष्ट है और घोटाले के मामलों में जमानत पर बाहर है, कभी भी प्रधान मंत्री का सबसे महत्वपूर्ण पद धारण करने के लायक नहीं है। यहां तक कि वह पार्टी अध्यक्ष बनने के लायक भी नहीं है, लेकिन वंशवाद की राजनीति के कारण वे आज पार्टी के इस पद पर हैं
कांग्रेस पार्टी की वंशवादी राजनीति को रोकने के लिए अब उच्च समय है। लोगों को प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार को वोट देना चाहिए और इस परिवार केंद्रित पार्टी को देश से बाहर उस जगह फेंक देना चाहिए जहां वे वास्तव में हैं

104 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close