अर्थव्यवस्थाराजनीति

संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के अध्यक्ष ने की भारत की प्रशंसा, कहा  “प्रधान मंत्री मोदी के नेतृत्व तहत भारत में पूरी दुनिया को बदलने की क्षमता है”।

596 Shares

क्या कहें उन लोगों के बारे में जिनकी आँखों के आगे पट्टी बंधी हुई है, जिन्हें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राष्ट्र की प्रगति नज़र नही आती। एक तरफ विपक्षी है जिनके पास मोदी सरकार की इमानदारी की वजह से उन पर निशाना साधने के लिए कुछ है नहीं इसलिए जब देखो सरकार पर झूठे आरोप लगाते रहते हैं और दूसरी तरफ दूसरी तरफ मोदी सरकार के समर्थक ही है जो उनके खिलाफ इसलिए खड़े हो गये है क्योंकि सरकार ने कुछ वादे पूरे नहीं किये है।

कुछ भी हो ये लोग प्रधान मंत्री मोदी की अहमियत समझे न समझे पर बाकी देशों ने इस बात को अच्छे से समझा है कि भारत को कई वर्षों के बाद ऐसा नेतृत्व मिला है जो देश को तरक्की की और अग्रसर कर रहा है|

प्रधान मंत्री मोदी के तहत भारत के विकास को स्वीकार करने वाले व्यक्तियों की सूची में नया नाम जुड़ा है संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) की अध्यक्ष मारिया फरनेंडा एस्पिनोसा का।

देश की तारीफ में पूल बांधते हुए, मारिया ने देश को बहुपक्षीय प्रणाली के “बहुत महत्वपूर्ण खिलाड़ी” के रूप में वर्णित किया जिसमें पूरी दुनिया को बदलने की क्षमता है।

“भारत वास्तव में बहुपक्षीय प्रणाली का एक बहुत ही महत्वपूर्ण खिलाड़ी है। संयुक्त राष्ट्र के भारत से बहुत अच्छे संबंध है। यदि भारत 2030 तक संधारणणीय विकास लक्ष्य की उपलब्धि में सफल होता है – हम 1.3 अरब लोगों के बारे में बात कर रहे हैं – यह वास्तव में दुनिया का चेहरा बदल सकता है।”मारिया ने कहा

संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के विभिन्न पहलुओं में भारत के प्रयासों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि भारत संयुक्त राष्ट्र शांति कार्य संचालन के लिए बहुत ही मजबूत योगदानकर्ता है। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान ‘यूएनईपी चैंपियंस ऑफ द अर्थ’ पुरस्कार से प्रधान मंत्री मोदी के सम्मानित होने पर अपनी खुशी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री मोदी अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के नेतृत्व को पहचानने के साथ-साथ 2022 तक भारत में सभी एकल उपयोग प्लास्टिक को खत्म करने के प्रति वचनबद्ध होने की वजह से इस पुरुस्कार को पाने के लिए बिलकुल उपरोक्त है।

“मैं भारत और प्रधान मंत्री मोदी को उनके पर्यावरणीय कार्य के लिए और नवीकरणीय ऊर्जा की दिशा में भारत की मजबूत प्रतिबद्धता के लिए दिए गए पुरस्कार से खुश हूँ|

उन्होंने आगे कहा कि भारत में हर चीज बहुत सकारात्मक तरीके से हो रही हैं और भारत में एक अलग पहचान बनाने के लिए आवश्यक सभी अनुकूल स्थितियां जैसे कि गतिशील और सक्रिय नागरिक समाज की सगाई, जीवंत लोकतंत्र, लोगों की मजबूत भागीदारी, व्यस्त नागरिकों सब है। उन्होंने मजबूत लोकतंत्र होने के लिए भारत की प्रशंसा की और कहा कि वह भारत को आशा और क्षमता के देश के रूप में भी देखती है|

न केवल उन्होंने भारत की प्रशंसा की बल्कि 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्षता में भारत के साथ मिलकर काम करने में रुचि व्यक्त की।

विपक्ष को राष्ट्र के सुधार के बारे में समझने के लिए कुछ भी नहीं किया जा सकता क्योंकि प्रधान मंत्री मोदी के लिए उनकी नफरत हर बात से ऊपर है, देश से भी ऊपर है। लेकिन इन मोदी समर्थकों के बारे में क्या कहूँ, जो यह नहीं समझते कि भारत केवल 4 वर्षों में प्रधान मंत्री मोदी के अधीन प्रगति कर रहा है। उन्हें तो ये समझना चाहिए|अगर वे भ्रष्ट कांग्रेस को 70 साल दे सकते हैं जिन्होंने राष्ट्र को केवल उन वर्षों में लूट लिया है, तो वे थोड़ा धीरज रख कर प्रधान मंत्री मोदी (जो हमारे लाभ के लिए दिन और रात काम कर रहे हैं) का समर्थन क्यूँ नहीं कर सकते|


Source : Financial Express

596 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close