राजनीति

फायरब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ ने ममता बनर्जी को उसके ही गड़ में लगाई लताड़, कहा भाजपा के सत्ता में आने के बाद टीएमसी के गुंडे अपने गले में बोर्ड डाल के घूमेंगे और अपनी हरकतों के लिए अपने जीवन की भीख मांगेगे

292 Shares

रोक सको तो रोकलो! उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का वर्णन करने के लिए यह एकदम सटीक है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उन्हें बंगाल में रैलियों के लिए रोकने की पूरी कोशिश की, लेकिन लगता है दीदी को इस बात की जानकारी नहीं थी कि इस बार वह किस शेर के मुंह में हाथ डाल रही हैं। वह न केवल रैलियां करने आएगा बल्कि उसके गढ़ में दहाड़ेगा भी। और यही योगी जी ने कल किया

जब ममता के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा पहली बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को रैली की अनुमति से वंचित किया गया तो उन्होंने संचार के डिजिटल साधनों का उपयोग करते हुए रैली को संबोधित किया। और कल उन्होंने सड़क परिवहन को चुना और इसके माध्यम से पश्चिम बंगाल के पुरुलिया पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी की करवाई से यह बखूबी कहा जा सकता है कि जिनके पास इच्छाशक्ति है, वे अपना रास्ता खोज ही लेते हैं|

न केवल मुख्यमंत्री योगी पश्चिम बंगाल पहुंचे, बल्कि उन्होंने दीदी की सरकार को खूब लताड़ लगाई और। फायर ब्रांड नेता ने अपने भाषण की शुरुआत ’भारत माता की जय’, ‘वंदे मातरम’और जय श्री राम’ मंत्रों के साथ की, जिन्हें लोगों से जोर से जयकारों के साथ पूर्ण प्रतिक्रिया मिली।

ममता सरकार पर धावा बोलते हुए योगी जी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस राज्य में गूंदागर्दी पर उतारू है, आये दिन पार्टी राज्य में खुलेआम विपक्षी नेताओं की हत्या कर रही है और उन्हें प्रताड़ित कर रही है| योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सत्ता में आने के बाद टीएमसी के गुंडे अपने गले में बोर्ड डाल के घूमेंगे और अपनी हरकतों के लिए अपने जीवन की भीख मांगेगे जैसे कि अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी (सपा) और मायावती के नेतृत्व वाली बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गूँदे उत्तर प्रदेश में कर रहे है|

मुख्यमंत्री योगी ने लिए ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी सरकार पर तंज कसते हुए कि सरकार मुहर्रम के जुलूस की अनुमति दे सकती है लेकिन दुर्गा पूजा के संचालन की अनुमति नहीं दे सकती। उन्होंने खुलासा किया कि किस तरह उच्च न्यायालय को हस्तक्षेप करना पड़ा और पश्चिम बंगाल सरकार को एक त्यौहार को दूसरे पर वरीयता प्रदान करने के लिए उच्च न्यायालय ने फटकार लगाई।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शेर की तरह दहाड़ते हुए ममता बनर्जी सरकार को उसका असली चेहरा दिखाया और पार्टी और उनके कृत्यों को निर्मम, बर्बर, आराजक, असामवेदिक, अलोकतांत्रिक, भ्राष्ट बताया।ममता पर वार करते हुए योगी जी ने कहा कि एक मुख्यमंत्री के द्वारा ‘धरना’ का मंचन करने से ज्यादा लोकतंत्र के लिए कुछ भी शर्मनाक नहीं हो सकता है। उन्होंने एक ‘भ्रष्ट अधिकारी’ को बचाने के लिए इतने बड़े नाटक का मंचन करने और संस्थानों का अपमान करने के लिए उनके हालिया शर्मनाक कृत्य की कड़ी निंदा की|

फायरब्रांड नेता ने शीर्ष अदालत के फैसले के तुरंत बाद यू-टर्न लेते हुए ममता बनर्जी के पाखंड का खुलासा किया। ममता को ‘अराजकतावादी’ करार देते हुए योगी ने आरोप लगाया कि उन्हें पश्चिम बंगाल में सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने पश्चिम बंगाल में व्याप्त हिंसा पर प्रकाश डाला और लोगों से टीएमसी को वोट न देने और बीजेपी को लाने का आग्रह किया, जैसे यूपी में भाजपा के सत्ता में आने के बाद के शांतिपूर्ण माहौल है|


स्रोत: Indian Express

292 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close