सैन्य सुरक्षा

भारत-पाकिस्तान सीमा पर शस्त्र पूजा करेंगे गृह मंत्री राजनाथ सिंह। बीएसएफ के साथ दशहरा मनाकर दुश्मनों को कड़ा संदेश दे रहा है भारत सरकार का गृह मंत्रालय।

350 Shares

 

यह दुर्गा-काली का देश है। राक्षसों का संहार करने माँ दुर्गा और काली के रूप में अवतरित हुई थी। इसी संदेश के साथ इस बार भारत सरकार का गृह मंत्रालय भारत-पाकिस्तान के संवेदनशील सीमा पर ‘शस्त्र पूजा’ करने जा रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह बीकानेर की दो दिवसीय यात्रा में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों के साथ दशहरा त्यौहार मनाने की योजना बना रहे हैं। 19 अक्टूबर को राजस्थान के बीकानेर में संवेदनशील भारत-पाक सीमा पर ‘शस्त्र पूजा’ आयोजित कर सेना जवानों का मनॊबल भी बढ़ाएंगे।

पिछले साल गृह मंत्री ने आईटीबीपी जवानों के साथ चीन-भारतीय सीमा पर उत्तराखंड के जोशीमठ में दशहरा मनाया था। यह पहली बार होगा जब भारत सरकार की एक वरिष्ठ मंत्री भारत-पाक सीमा पर ‘शस्त्र पूजा’ का आयोजन करेगें। पाकिस्तान सेना कश्मीर घाटी में बीएसएफ़ के जवानों के साथ हमेशा बर्बरता पूर्ण व्यवहार करती है। पिछले महीने जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाक बलों ने बीएसएफ जवान की गोली मार कर हत्या की थी और उसके मृत शरीर के साथ बर्बरता दिखाई थी।

ऐसे में भारत-पाक सीमा पर पहली बार शस्त्र पूजा कर दुश्मनों के बीच कड़ा संदेश पहुंचाया जा रहा है। भारत सरकार अपने सैनिकों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देगा। एक सर के बदले दस सर काट कर शहीदों के शहादत का बदला लिया जायेगा। जवानों का मनॊबल बढ़ाने के लिए खुद राजनाथ सिंह उनके साथ दशहरा मनायेंगे और उनके साथ ‘बड़ा खाना ‘(जवानों के साथ दावत) भी करेंगे।

गृह मंत्री सिंह सीमा पर स्थिति की समीक्षा और बुनियादी ढांचे की विभिन्न परियोजनाओं में प्रगति का आकलन भी करेंगे। राजनाथ सिंह के नेतृत्व में पाकिस्तान के साथ सीमा को सील करने के लिए ‘स्मार्ट बाड़’ परियोजना शुरू की गई है जिससे दुश्मनों के लिए सीमा पार करना मुश्किल हो जायेगा। भारत सरकार अपनी सीमाओं की रक्षा करने का हर संभव प्रयास कर रहा है। सरकार और सेना का मनोबल बढ़ाकर उनके साथ खड़ा रहना हमारा कर्तव्य है।

 

350 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close