राजनीति

ओपिनियन पोल: एनडीए 2019 में 300 से ज्यादा सीटें जीतकर सत्ता में बनी रहेगी! यह साबित करता है कि मोदी लहर अभी भी बरकरार है

7 Shares

कुछ महीने पहले, कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की जीत और फुलपुर और गोरखपुर सीटों में एसपी और बीएसपी गठबंधन की जीत ने आगामी लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी की जीत पर कई सवाल उठा दिए है। कई राजनीतिक पंडितों ने भी यह अनुमान लगाया कि यह 2019 में मोदी लहर को प्रभावित करेगा और बीजेपी के लिए फिर से सत्ता में आने में मुश्किल होगी

लेकिन इन सब बातों को नकारते हुए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि ऐसा नहीं होने वाला है। प्रधान मंत्री मोदी ही 2019 में एक बार फिर भारत के “प्रधान सेवक” के रूप में कार्य करेंगे।

एबीपी द्वारा जारी जनमत सर्वेक्षण के आधार पर एनडीए 2019 में फिर से जीत दर्ज करेगी। 543 लोकसभा सीटों में से एनडीए 329 सीटों में जीत हासिल करेगी, कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए 116 सीटों पर जीत सकती है जबकि अन्य पार्टियां संभवतः हैं 127 सीटों पर जीत दर्ज करेगी|

वोट शेयर के अनुमान के अनुसार एनडीए 38 प्रतिशत वोट सुरक्षित करेगी, जहां यूपीए को 26 फीसदी मिलेगा जबकि अन्य पार्टियां कुल वोटों में से 36 प्रतिशत सुरक्षित होंगी।

सर्वेक्षण से संकेत मिलता है कि लोकसभा चुनाव 2019 के समग्र परिणाम में उत्तर प्रदेश और बिहार राज्यों के नतीजे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। सर्वेक्षण में संकेत दिया गया है कि महागठबंधन में उभरने वाली दरारों के कारण एसपी-बसपा गठबंधन शायद नहीं हो पायेगा, जिसके का मतलब साफ़ है एनडीए को सत्ता में आने से कोई नहीं रोक सकता है। हालांकि अगर यह गठबंधन होता तो यह पार्टी को कुछ हद तक प्रभावित कर सकता है लेकिन पार्टी आसानी से जीत हासिल करने में सफल रह जाएगी

सर्वेक्षण के मुताबिक यदि उत्तर प्रदेश में एसपी और बीएसपी के बीच कोई गठबंधन नहीं बनाया गया है, तो एनडीए के राज्य में 80 लोकसभा सीटों में से 70 जीतने की संभावना है, यूपीए के केवल दो सीटें जीतने का अनुमान है जबकि एसपी और बीएसपी की प्रत्येक चार सीटों पर जीत दर्ज करेगी।

और यदि बीएसपी और एसपी एक-दूसरे के साथ हाथ हिलाते हैं तो एनडीए की सीटों में कमी आकर 31 तक हो जायेंगी जबकि बीएसपी और एसपी 44 सीटों पर होंगी और यूपीए राज्य में 5 सीटों पर कब्जा कर पाएगी। बिहार राज्य में, एनडीए को 34, यूपीए के 40 संसदीय सीटों में से छह सीटें जीतने का अनुमान है। राजस्थान में 25 लोकसभा सीटों में से बीजेपी के 17 जीतने का अनुमान है जबकि कांग्रेस को केवल 8 मिलेंगी।

दक्षिणी बेल्ट के राज्यों केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु में क्षेत्रीय दलों को 75 सीटें जीतने का अनुमान है, यूपीए को 34 मिलेंगी जबकि एनडीए की सिर्फ 20 जीतने की उम्मीद है। ओडिशा में बीजेपी 12 सीट जीत सकती है, जबकि सत्तारूढ़ बिजू जनता दल (बीजेडी) के छह सीट जीतने का अनुमान है। राय के मुताबिक, कांग्रेस को केवल तीन सीटें मिल सकती हैं।
बीजेपी और शिवसेना और कांग्रेस और एनसीपी के बीच कोई गठबंधन नहीं बनने भाजपा का 48 सीटों में से 25 सीट जीतने का अनुमान है, कांग्रेस का 14 सीटें, शिवसेना 5 और एनसीपी के 6 जीतने की उम्मीद है। हालांकि , यदि गठजोड़ गठित होते हैं, तो एनडीए 28 सीटें जीत सकती है जबकि 20 यूपीए के हिस्से में जा सकती हैं।


Source :Latestly

7 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close