राजनीति

कांग्रेस को बड़ा झटका, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने राहुल गांधी के सहयोगी सैम पित्रोदा को “1984 सिख नरसंहार” पर असंवेदनशील टिप्पणियों के लिए भेजा नोटिस

कांग्रेस को बड़ा झटका देते हुए, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने राहुल गांधी के करीबी सैम पित्रोदा को उनकी असंवेदनशील टिप्पणियों पर नोटिस भेजा है जो उन्होंने हाल ही में “1984 के सिख नरसंहार” पर दी थी|

“1984 सिख नरसंहार” के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस नेता ने कहा, “1984 हुआ, तो हुआ?” उन्होंने नानावती आयोग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए भाजपा के दावे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यह अपमानजनक बयान दिया|

नानावती आयोग की रिपोर्ट पर हमला करते हुए, सैम पित्रोदा ने कहा “मुझे ऐसा नहीं लगता, यह भी एक और झूठ है, और 1984 में क्या हुआ ? वो छोड़े ये बताएं 5 साल में क्या हुआ। 1984 में जो हुआ, सो हुआ”|

इससे पूरे देश में भारी आक्रोश फैल गया। बाद में जब पार्टी ने महसूस किया कि बड़ी गड़बड़ी पैदा हुई है तो उसने यू-टर्न ले लिया। कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने कहा कि वह सैम पित्रोदा की बातों से सहमत नहीं हैं और पित्रोदा को देश से माफी मांगनी चाहिए।

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग द्वारा दिए गए नोटिस में आयोग ने पित्रोदा से उनके असंवेदनशील टिप्पणियों को लेकर सिख समुदाय को बिना शर्त माफी मांगने के लिए कहा है।

यह नोटिस भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा द्वारा आयोग को की गई शिकायत के आधार पर भेजा गया था। आयोग के सदस्य आतिफ रशीद ने पित्रोदा को नोटिस भेजकर अपनी टिप्पणी बताने को कहा। राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग द्वारा पित्रोदा को भेजे गए पत्र में लिखा गया कि पित्रोदा के बयान से सिख समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है और इससे दो समुदायों के बीच दरार पैदा हो सकती है।

पत्र में कहा गया, “जैसा कि NCM संसद के एक अधिनियम द्वारा एक सांविधिक निकाय के रूप में गठित किया गया है और अल्पसंख्यकों के अधिकारों और सुरक्षा उपायों से वंचित करने के बारे में विशिष्ट शिकायतों को देखने के लिए सशक्त है, उसने शिकायत को बहुत गंभीरता से लिया है क्योंकि सिख अधिसूचित अल्पसंख्यकों में से एक है। भारत में 1984 के नरसंहार की घटना मानव जाति के इतिहास पर एक धब्बा है। ”

कांग्रेस कितना भी यू-टर्न ले, लेकिन पार्टी इतने निर्दोष सिखों को मारने के अपने बुरे कर्मों से पीछा नहीं छुड़ा सकती है

Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close