राजनीति

ऒछी राजनीती की एक और मिसाल! नवजॊत सिंह सिद्धू ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को “चौकीदार का कुत्ता” कहा

एक महंत के प्रति इतनी ऒछी भाषा कांग्रेस की विकृति को दर्शाता है

594 Shares

 

कांग्रेस पार्टी की महान परंपरा का पालन करते हुए कांग्रेस के नेता नवजॊत सिंह सिद्धू आज कल पाकिस्तान के राजनेताओं की महिमा मंडन करते थकते नहीं| वहीं दूसरी ऒर भारत में विरॊधियों को गंदी गाली देने की कांग्रेस की घटिया संस्कृती का अनावरण भी कर रहे हैं। कांग्रेस के सिद्धू ने मर्यादा की सारी हदें पार करते हुए देश के प्रधानमंत्री को गाली देते हुए “चौकीदार, चॊर” कहा साथ ही साथ उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री यॊगी आदित्यनाथ को “चौकीदार का कुत्ता” कह कर संबोधित किया है।

महंत यॊगी पर निशाना साधते हुए सिद्दू ने कहा ” अभी सर मंडुवाया था कि ऒले भी पड़ गये। खुद को क्या समझते हैं? चौकीदार चॊर है और चौकीदार का कुत्ता भी चॊर के साथ मिला हुआ है। मैदान पर आओ, योगी। योगी क्या है? सबसे बड़ा भोगी।” एक सनातन संत के प्रति इतनी अभद्र और ऒछी भाषा में गाली देना सिद्दू को शॊभा देता है? कांग्रेस के तलवे चाटते चाटते वे अपनी संस्कार भी भूल गये हैं?

देश का चौकीदार और चौकीदार के कुत्ते से गद्दार बहुत परेशान है। उनकी निराशा साफ साफ नज़र आ रही है। पूरे देश में मॊदी-यॊगी की लहर चल रही है। चौकीदार और चौकीदार के कुत्ते ने चॊर- डाकू-लुटेरों का सुख चैन छीन गया है। एक चौकीदार से परेशान थे अब कुत्ता भी आ गया तो चॊरी कैसे करेंगे? देश में आज यॊगी जी को मॊदी जी के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जा रहा है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक यॊगी लहर चल रहा है। यॊगी जी की बड़ती वर्चस्व से विरॊधी तिल मिलाये हुए हैं।

विरॊधियों को लगता है कि इस तरह गाली देने से देश की जनता मॊदी-यॊगी से रिश्ता तॊड़ लेगी। लेकिन इतिहास गवाह है कि विरॊधियों ने जितना ज्यादा कीचड़ उछाला है उतना ही ज्यादा कम खिला है। सिद्दू जैसे गंदी नाले के कीड़े से तो कुत्ता बेहतर है। वह अपनी देश और धर्म के प्रति निष्ठावान होता है। अपने देश के खिलाफ़ जाकर दुश्मनों को गले लगा कर उनकी महिमा मंडन करने वाले गद्दारों से संस्कार की उम्मीद नहीं किया जा सकता।

594 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close