अर्थव्यवस्थाराजनीति

विजय माल्या पर मोदी सरकार की कारवाई से मेहुल चोकसी घबराये, कहा कि बकाया जमा करने के लिए पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के साथ उनकी बातचीत चल रही है

1K Shares

मोदी सरकार द्वारा संयुक्त राज्य अमेरिका में विजय माल्या के खिलाफ मिली जीत के बाद सभी भगोड़े अब आतंक में हैं कि अब अगला नंबर उनका होगा।मेहुल चोकसी जो अपने रिश्तेदार नीरव मोदी के साथ मिलकर धोखाधड़ी में शामिल थे अब उनको डर सता रहा है कि उनका वक़्त आ गया है|

इस साल की शुरुवात में ये दोनों हीरा डोन भारत से भाग गए थे, लेकिन अब एक 34-पृष्ठ के उत्तर में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा उन्हें भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने की याचिका को खारिज करने की मांग करते हुए मेहुल चोस्की ने विशेष रोकथाम धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) अदालत में कहा कि बकाया जमा करने के लिए पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के साथ उनकी बातचीत चल रही है।

एक रिपोर्ट में कहा गया है, “विशेष न्यायाधीश एम एस आज़मी के समक्ष सोमवार को अधिवक्ता संजय एबोट और राहुल अग्रवाल के माध्यम से जवाब प्रस्तुत किया गया था। प्रवर्तन निदेशालय ने चोकसी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने और भगोड़े आर्थिक अपराध अधिनियम के प्रावधानों के तहत उसकी संपत्तियों को जब्त करने की मांग की थी।

जी हां, मेहुल चोकसी का यह बड़ा बयान रहा है। उन्होंने कहा कि विभिन्न स्वास्थ्य कारणों से वह भारत में 41 घंटे की उड़ान भरने में असमर्थ हैं।पहले की रिपोर्टों में दावा किया गया था कि वे संयुक्त राज्य अमेरिका से एंटीगुआ और बरमूडा के द्वीप में भाग गए थे। बाद में एंटीगुआ और बारबुडा के विदेश मंत्री ईपी चेट ग्रीन ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को आश्वस्त किया कि सरकार मामले में “पूर्ण सहयोग” प्रदान करेगी। सुषमा स्वराज ने ईपी चेट ग्रीन से मिल कर कहा था, “भारत में बहुत उम्मीदें हैं क्योंकि मेहुल चोकसी इतनी बड़ी धोखाधड़ी करने के बाद देश छोड़ कर गया था”|

लेकिन चोकसी ने शायद इसे गंभीरता से नहीं लिया, पर अब लगता है कि अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल को भारत वापस लाने के बाद और विजय माल्या को जनवरी के अंत तक घर लाने की खबर से चोकसी घबरा गया है |अगर चोकसी और नीरव को अगले 2-3 महीनों में वापस ले आया गया तो यह मोदी सरकार के लिए एक बड़ा फायदा होगा।

1K Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close