देशभक्तिराजनीतिसैन्य सुरक्षा

क्या जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मौलाना मसूद अजहर की मौत सच में हो गई या ये पाकिस्तान की कोई साज़िश है

कल से जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मौलाना मसूद अजहर की मौत की खबरें चारो तरफ फैली हुई हैं। कुछ समाचार चैनल और वेबसाइटों ने दावा किया है कि जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर की मृत्यु हो गई जब भारत ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविरों पर हवाई हमला किया

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार मौलाना मसूद अजहर तब  जैश-ए-मोहम्मद मुख्यालय में मौजूद था जब भारतीय बलों ने एयर स्ट्राइक की और उसी के परिणामस्वरूप उसकी मौत हुई है।

जबकि कुछ अन्य रिपोर्टों में दावा किया गया है कि वह हमले में गंभीर रूप से घायल हो गया था और उसे तुरंत सेना के अस्पताल ले जाया गया जहाँ 2 मार्च को उसे मृत घोषित कर दिया गया।

अटकलें हवा में हैं कि हमले से उसकी मौत को कवर करने के लिए, पाकिस्तान अब दावा कर रहा है कि वह गंभीर रूप से बीमार है और सेना के अस्पताल में इलाज चल रहा है। पाकिस्तान इसे प्राकृतिक मौत के रूप में पेश करना चाहता है|

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने हमले के बाद स्वीकार किया था कि मसूद अजहर पाकिस्तान में है, लेकिन गुर्दे की खराबी से पीड़ित है और उसकी बीमारी एक उन्नत अवस्था में है |

इस खबर ने गति इस लिए पकड़ी क्योंकि  एयर स्ट्राइक्स से पहले उसकी बीमारी की कोई खबर नहीं थी। इसके अलावा, जब हमला हुआ तो सेना द्वारा तुरंत जगह को सील कर दिया गया और यहां तक ​​कि स्थानीय पुलिस को भी प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि पत्रकारों को भारतीय हवाई हमले के बाद केवल कुछ पेड़ गिरने की सूचना दी गई थी

वहीं कुछ अन्य रिपोर्टों का दावा है कि जैश ऐ मोहम्मद प्रमुख को कुछ नहीं हुआ है और उन्हें पाकिस्तान के अधिकारियों द्वारा सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित कर दिया गया है जहां उन्हें भारी सुरक्षा प्रदान की जा रही है।

रिपोर्टों के अनुसार, जैसा कि पाक मंत्री ने कहा है कि मौलाना मसूद अजहर का रावलपिंडी अस्पताल में इलाज चल रहा है और पाकिस्तान के आईएसआई ने उसे रावलपिंडी के सैन्य अस्पताल से पहले ही बहावलपुर के कोतघानी में एक ठिकाने पर स्थानांतरित कर दिया है। आतंकवादी संगठन पर हमले की वजह से पाकिस्तान सरकार पहले ही पुलवामा हमले के बाद भारत द्वारा कड़ी कार्रवाई की उम्मीद कर रही थी

फिर भी कुछ निश्चित नहीं किया जा सकता है कि क्या मसूद अजहर हवाई हमलों में वास्तव में मर गया और पाकिस्तान इसे प्राकृतिक मौत के रूप में पेश करने की कोशिश कर रहा है या पाकिस्तान ऐसी खबरों का प्रचार करके उसे बचाने की कोशिश कर रहा है। अगर पाकिस्तान को लगता है कि कोई गेम प्लान खेलकर वह ऐसा करने में सफल हो जाएगा तो वे बहुत गलत है।


स्रोत: टाइम्स नाउ

रिपब्लिक


निहारिका

Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close