राजनीति

वैश्विक हॊ रहा है भारत का आधार! मलेशिया सरकार अपने राष्ट्रीय पहचान पत्र में भारत की आधार आईडी प्रणाली को अपनाने के लिए इच्छुक।

49 Shares

भारत की आधार पहल से प्रेरित, मलेशिया सरकार ने अपने देश में भी इसे लागू करने की प्रणाली बनाई है। मलेशिया सरकार अपने कल्याणकारी योजनाओं के लक्षित वितरण और धोखाधड़ी से बचने के लिए, सरकारी सब्सिडी को वितरित करने के लिए राष्ट्रीय पहचान पत्र में आधार आईडी सिस्टम को अपनाने की योजना बना रही है। जिस आधार सिस्टम पर कांग्रेस आरॊपों की लड़ियां बांध रही है उसी आधार प्रणाली को मलेशिया सरकार अपनाने जा रही है!!

मलेशिया के मानव संसाधन सचिव, एम कुला के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल पिछले हफ्ते भारत आया था और मलेशिया में आधार की सुविधाओं को अपनाने की संभावना का पता लगाने के लिए भारत में संबंधित मंत्रियों और अधिकारियों से मुलाकात की थी। मलेशिया के प्रतिनिधिमंडल ने यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण पांडे से भी मुलाकात की और आधार के बारे में जानकारी हासिल की थी।

मई में मलेशिया की अपनी यात्रा के दौरान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने उन मामलों पर सहयोग करने की पेशकश की जहां भारत की विशेषज्ञता थी। मलेशिया के बैंक खातों को जोड़ने और कल्याणकारी योजनाओं और सब्सिडी के वितरण की संभावना के रूप में भी रिपोर्ट तयार किया जा रहा है। मलेशियाई सरकार शुरू में अपनी आय के आधार पर विभिन्न समूहों को लक्षित सब्सिडी प्रदान करने और इसे नकद कम करने की योजना बना रही है।

कुला ने कहा “अभी हम चेक भेजते हैं, या हम नकद देते हैं। यदि आप आधार प्रणाली का पालन करते हैं तो इसकी कोई ज़रूरत नहीं है, और यह सीधे आपके खाते में आता है। ” भारत का आधार, भारत का ईविम, यहां तक की स्वच्छ भारत अभियान की नकल दुनिया भर के देश कर रहें हैं। यह सब मॊदी जी की साफ नीयत और सही विकास के कारण ही संभव हो पाया है। हम भारतीयों के लिए यह गौरव की बात है।

49 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close