राजनीति

गिरफ्तारी के डर से कांग्रेस अध्यक्ष के जीजा रॉबर्ट वाड्रा ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अग्रिम जमानत के लिए पटियाला हाउस कोर्ट के समक्ष याचिका दायर की

मोदी सरकार घोटालेबाजों को कतई भी छोड़ने वाली नहीं है| चाहे वे देश के किसी भी कोने में छिपे हो मोदी सरकार उन्हें खींच कर ले आएगी|

मोदी सरकार के आने के बाद हर धोखेबाज़ की नींद उड़ी हुई है|हर कोई अपने आप को बचाने की होड़ में इधर उधर भाग रहा है|मोदी सरकार की कारवाई से मानसिक परेशानी के बाद अब कांग्रेस अध्यक्ष के जीजा रोबर्ट वाड्रा ने प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दायर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तारी के डर से दिल्ली की पटियाला अदालत में अग्रिम जमानत के लिए अर्जी दायर की है। यह याचिका सीबीआई के विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार के समक्ष दायर की गई है और इसकी सुनवाई आज होगी।

ऐसा कहा जाता है कि रॉबर्ट वाड्रा ने लंदन में 12 ब्रायनस्टन स्क्वायर पर स्थित एक संपत्ति खरीदी जिसकी कीमत 1.9 मिलियन पाउंड थी और इस दौरान जो लेन-देन हुआ वे कथित रूप से अवैध था। सिर्फ रॉबर्ट वाड्रा ही नहीं बल्कि उनके करीबी सहयोगी मनोज अरोड़ा भी इस मामले से जुड़े हुए थे और वो इस मामले में परेशानियों का सामना कर रहे हैं।

मनोज अरोड़ा 19 जनवरी को दिल्ली की अदालत में 6 फरवरी तक अपनी अग्रिम जमानत बढ़ाने में सफल रहे। 7 दिसंबर को प्रवर्तन निदेशालय ने रॉबर्ट वाड्रा से जुड़े कई ठिकानों पर बैंगलोर और दिल्ली में  छापे मारे थे, जिनमें रक्षा सौदों में कुछ संदिग्धों द्वारा कमीशन प्राप्त करने के आरोप हैं|

वर्तमान में हथियार डीलर संजय भंडारी, जो रॉबर्ट वाड्रा के करीबी सहयोगी हैं, फरार हैं और यह अफवाह है कि फरवरी में उन्हें भारत वापस लाया जा सकता है। पिछले हफ्ते प्रियंका वाड्रा गांधी को कांग्रेस पार्टी द्वारा उत्तर प्रदेश पूर्व के महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया था और उनके पति पर बढ़ती परेशानियों ने उनकी छवि को और धूमिल कर दिया है।

वर्तमान में, रॉबर्ट वाड्रा की सास सोनिया गांधी और बहनोई राहुल गांधी जमानत पर बाहर हैं। अब वह भी उसी रास्ते या जेल का अनुसरण कर सकता है।

Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close