राजनीति

कांग्रेस का हाथ घोटालेबाजों के साथ! कांग्रेस के वरिष्ठ नेता द्वारा बिचौलिए दीपक तलवार को लिखा हुआ धन्यवाद पत्र आया सामने

628 Shares

कांग्रेस ने 55 वर्षों से अधिक समय तक देश पर शासन किया है। लेकिन कांग्रेस ने देश को जो दिया है वह केवल घोटाले और भ्रष्टाचार है। इस पार्टी ने राष्ट्र के लोगों को लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

कोई भी राष्ट्र-विरोधी गतिविधि उभरती है, कोई भी घोटाला उभरता है  एक नाम है जिसे इससे अलग नहीं किया जा सकता है और यह  नाम है भारत की सबसे पुरानी पार्टी का ।

जैसा कि दीपक तलवार के प्रत्यर्पण के बाद उम्मीद की जा रही थी कि कांग्रेस पार्टी के बारे में कई बातें सामने आएंगी वही हुआ।

एक बड़े रहस्योद्घाटन में यह बात सामने आई है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बिचौलिए और धोखेबाज दीपक तलवार को पत्र लिखकर उनकी सेवाओं के लिए उनका शुक्रिया अदा किया था| ये खुलासा टाइम्स नाउ द्वारा किया गया।

टाइम्स नाउ ने उस पत्र को एक्सेस किया है जिसमें दिग्विजय सिंह को बिचौलिया तलवार के प्रति आभार व्यक्त करते हुए पाया गया|दिग्विजय सिंह ने उनके और उनके परिवार का ह्यूस्टन से  हवाई टिकट इकोनॉमी क्लास से बिजनेस क्लास में अपग्रेड करवाने पर तलवार को धन्यवाद दिया|

यह पहली बार नहीं है जब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के संबंध धोखेबाजों और भारत विरोधी तत्वों के साथ सामने आए हैं। हाल ही में दिग्विजय सिंह द्वारा अर्बन नक्सलियों को लिखा गया एक पत्र भी सामने आया था जिसमें उनके और अर्बन नक्सलियों के बीच एक कड़ी स्थापित की गई थी। संदिग्ध नक्सलियों से जब्त पत्रों में दिग्विजय सिंह का विवरण उनके फोन नंबर के साथ मिला था।फिलहाल यह मामला पुणे पुलिस की जांच में है और पुलिस सभी दोषियों को पकड़ने की पूरी कोशिश कर रही है

दीपक तलवार एक कॉरपोरेट लॉबिस्ट हैं और पश्चिम एशियाई देशों के साथ-साथ राज्य के स्वामित्व वाले एयर इंडिया द्वारा विमान खरीद के साथ द्विपक्षीय सेवा समझौतों में “बिचौलिए” के रूप में काम करते हैं।एक दिन पहले यह भी सामने आया था कि बिचौलिए और लॉबीस्ट तलवार को जून 2008 से फरवरी 2009 तक अमीरात, एयर अरबिया और कतर एयरवेज से “अत्यधिक मात्रा में” धन प्राप्त हुआ था।

ED के रिमांड पेपर में कहा गया है कि अमीरात (जून से नवंबर 2008) से  तलवार ने अपने “बैंक ऑफ सिंगापुर” खाते में 45 मिलियन अमेरिकी डॉलर का “किकबैक” प्राप्त किया। इसके अलावा, उन्होंने कथित तौर पर कतर और एयर अरेबिया (जून 2008 से फरवरी 2009) से 1.5 करोड़ अमेरिकी डॉलर प्राप्त किए। ईडी ने खैतान द्वारा नियंत्रित “प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से” खातों का विवरण दिया है जिन्हें भुगतान प्राप्त हुआ।

रिपोर्ट में कहा गया है कि प्राप्त किए गए भुगतान “संबंधित समझौतों पर हस्ताक्षर करने के समय के निकट” थे। इसमें कहा गया है कि उक्त भुगतान “सामान्य व्यापार लेनदेन नहीं” थे और ये “मूल रूप से अपराध की आय” थी|

एजेंसी ने सार्वजनिक कर्मचारियों द्वारा पॉवर के दुरुपयोग के आरोपों पर मई 2017 में एक मामला दर्ज किया था, जिन्होंने राष्ट्रीय वाहक को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय घरेलू और विदेशी निजी एयरलाइनों के पक्ष में एयर इंडिया के लाभ कमाने वाले मार्गों और लाभ कमाने के लिए किकबैक प्राप्त किया था। जिस की वजह से  एयर इंडिया को बाजार हिस्सेदारी में  भारी नुकसान हुआ और निजी घरेलू और विदेशी एयरलाइनों को बहुत फायदा हुआ।

यह वाकई शर्मनाक है कि इतने सालों से हमारा राष्ट्र लुटेरों के हाथों में था। इन धोखेबाजों ने केवल  खुद को ही विकसित किया है और  राष्ट्र के निर्माण के बारे में कभी सोचा भी नहीं| यह हमारी सबसे बड़ी गलती होगी अगर हम अब भी उन पर विश्वास करते हैं और आगामी चुनावों में उन्हें वोट देते हैं। अब इन्हें वोट देने की गलती न करे| इस पार्टी को राष्ट्र से बाहर फेंकने का अब उच्च समय है, जो सदियों से हमारे देश को लूट रही है|

628 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close