राजनीति

सीबीआई और मोदी सरकार के लिए बड़ी जीत! सर्वोच्च न्यायालय ने ममता सरकार को झटका देते हुए, राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने के लिए कहा

311 Shares

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बहु-अरब चिट फंड घोटाले में भ्रस्टाचारियों को बचाने की उनकी असफल कोशिश में बड़ा झटका लगा है। सर्वोच्च न्यायालय ने यह कहते हुए उसे भारी झटका दिया है कि कोलकाता के पुलिस प्रमुख राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होना होगा और जांच में सहयोग करना होगा। मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ के इस बयान ने साबित कर दिया है कि मोदी सरकार जांच एजेंसियों का दुरुपयोग नहीं कर रही है।

3 फरवरी को, आरोपी राजीव कुमार को हिरासत में लेने गये सीबीआई अधिकारियों को कॉलर द्वारा पकड़ लिया गया था और ममता बनर्जी की पुलिस ने उन्हें जीप में डाल दिया। यह अदालत की अवमानना थी क्योंकि सीबीआई के अधिकारी सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर काम कर रहे थे लेकिन ममता बनर्जी ने उनके कदम को रोक दिया।

सीबीआई द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायधीश की अध्यक्षता वाली तीन-न्यायाधीशों की पीठ ने  आज मामले की  सुनवाई की| ममता बनर्जी की सरकार की ओर से कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी अदालत में पेश हुए।

सीबीआई ने सुनवाई के दौरान बताया कि कोलकाता के पुलिस प्रमुख राजीव कुमार ने शारदा चिट फंड मामले में जांच में सहयोग नहीं किया है और उन्होंने सबूतों को नष्ट करने की कोशिश की है| केंद्रीय जांच एजेंसी ने आरोप लगाया कि राजीव कुमार पहले एसआईटी में थे पर बाद में आरोपी के साथ मिलीभगत कर उन्होंने सबूत नष्ट किये| अटॉर्नी जनरल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार (जिन्होंने अप्रैल, 2013 और मई 2014 के बीच चिट फंड घोटाले की जांच के लिए एसआईटी का नेतृत्व किया) ने पूरी सामग्री सीबीआई को नहीं सौंपी|

‘ वास्तव में, आरोपियों के कॉल डिटेल रिकॉर्ड को दर्ज किया गया था| लेकिन राजीव कुमार ने सीबीआई को सैद्धांतिक रूप से कॉल रिकॉर्ड सौंपे हैं. कौन था, किसने बुलाया, इस पर जानकारी मिटा दी गई. सुदीप्तो सेन के सेल फोन को वापस सौंप दिया गया था’, सीबीआई ने कोर्ट में कहा,

मुख्य न्यायधीश  ने आदेश दिया कि सीबीआई पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से शिंलांग के पास किसी निष्पक्ष स्थान पर पूछताछ कर सकती है| साथ ही कोर्ट ने अवमानना के मामले में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव और डीजीपी और पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को  नोटिस  जारी किया है, मामले की अगली सुनवाई 20 फरवरी को होगी|

311 Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close