राजनीतिसंस्कृति

इस्लामिक देश इंडॊनेशिया और सनातन धर्म से उसके 1000 वर्ष से भी पुराने रिश्ते की निशानी खुदाई के दौरान मंदिर के रूप मिलना हिन्दुओं को बहुत बड़ा सीख दे रहा है

1K Shares

आज भले ही इंडोनेशिया एक मुस्लिम देश है, लेकिन हज़ार वर्ष पूर्व वह भी हमारे अखंड भारत का ही हिस्सा था। इरान से लेकर इंडॊनेशिया तक आर्यावर्त भारत के लोग फैले हुए थे। इस्लाम का आक्रमण और क्रिश्चियानिटि के धर्मांतरण के विकराल रूप ने समूचे विश्व को ही अपने चपॆट में ले लिया है। जो सनातन धर्म पूरे विश्व में फैला हुआ था आज वह केवल भारत में सिमट कर रह गया है। फिर भी कहते हैं कि हिन्दू बहुसंख्यक है, जबकि सच यह ही है कि हिन्दू इस दुनिया में ही अल्पसंख्यक बन चुके हैं।

दुनिया में क्रिश्चियानिटि के लिए सौ से अधिक देश हैं इस्माम के लिए पचास से अधिक, बुद्धिसम के लिये दस देश और कम्यूनिसम के लिए एक देश है। परंतु हिन्दुओं के लिए कॊई देश क्यों नहीं है ? कभी सॊचा है? नहीं सोचा तो अब सॊचना शुरु कर दीजिए। इससे पहले की  देर हो जाये समय रहते जाग जायिये।

इंडॊनेशिया भी कभी हिन्दू देश हुआ करता था।

इंडॊनेशिया में खुदाई के दौरान सनातन धर्म से जुड़े साक्ष्य के रूप में एक हिन्दू मंदिर खोजा गया है। यह मंदिर करीब 1000 वर्ष से भी पुराना है। पुरातत्त्ववेत्ताओं ने खुदाई के दौरान इस मंदिर को खॊजा है। यह मंदिर इंडीनेशिया के भूतकाल पर प्रकाश डालता है। मंदिर के वास्तुकला को दर्शाने वाली मूर्तियां अब तक की सबसे बड़ी और संरक्षित खॊजों में से एक माना गया है।

इंडॊनेशिया के जोगजकार्ता में इस मंदिर को जमीन के नीचे तीन मीटर के गहराई में पाया गया है। माना जाता है कि ज्वालामुखी के विस्फॊट के कारण यह मंदिर जमीन के नीचे दब गया था। मंदिर में भगवान शिव और उनके पुत्र गणॆश की मूर्तियां पाई गयी है। यहां के लोगों का मानना है कि इस मंदिर के खॊज से उनके पूर्वजों के बारे में जानना आसान हो जायेगा। देखिए एक वो मुस्लिम देश है जो अपने पूर्वजों के बारे में जानने की आस्था रखता है, और एक हमारा अपना देश है जहां जगह का इस्लामी नाम बदल कर उसे सनातन नाम से बुलाया जाये तो हो हल्ला मच जाता है।

हम कब इंडीनेशिया, जपान जैसे देशों से सीख लेंगे? अपनी धरॊहर सनातन धर्म और उससे जुड़ी संस्कृती का सम्मान करना हम कब सीखेंगे? हमारी इसी अज्ञान के कारण अब हम केवल एक देश में सिकुड़ कर रह गये हैं। आज भी चारों ऒर से हमारे ऊपर खतरा मंडरा रहा है। अब नहीं जागे तो वो दिन दूर नहीं, जब हमारी आने वाली पीड़ियाँ भारत में ही अपने धर्म को खोजती रह जायेगी। जमीन के नीचे मिल रहे मंदिरों को देखकर आश्चर्य चकित होकर सॊचने लगेंगे कि उनके पूर्वज भी हिन्दू थे। हिन्दुओं के लिए एक देश भारत बचा है। अगर अब हम एक जुट नहीं हुए तो हिन्दू मात्र इतिहास बन कर रह जायेगा।

1K Shares
Tags

Related Articles

FOR DAILY ALERTS
 
FOR DAILY ALERTS
 
Close